Home प्रदेश दिल्ली का टैंकर घोटाला : कपिल ने ACB को सौंपे सबूत

दिल्ली का टैंकर घोटाला : कपिल ने ACB को सौंपे सबूत

143
0
SHARE

दिल्ली (तेज समाचार प्रतिनिधि). आप नेताओं की विदेश दौरों की जानकारी सार्वजनिक करने की मांग को लेकर भूख हड़ताल पर बैठे कपिल मिश्रा गुरुवार दोपहर एसीबी ऑफिस पहुंच गए और वहां उन्होंने एसीबी अधिकारियों को टैंकर घोटाले से जुड़े सबूत सौंपे. इससे पहले, मिश्रा ने कहा कि उनके पास कुछ और जानकारियां आई हैं और रविवार को वह एक और बड़ा खुलासा करेंगे. बता दें कि बुधवार शाम मिश्रा पर एक शख्स ने हमला कर दिया था. पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है. आप का दावा है कि कपिल पर हमला करने वाला शख्स बीजेपी से जुड़ा है जबकि मिश्रा ने दावा किया कि हमलावार सत्येंद्र जैन का करीबी है और आम आदमी पार्टी से जुड़ा है.
करावल नगर से विधायक कपिल मिश्रा ने कहा कि वे अपनी भूख हड़ताल तभी खत्म करेंगे, जब आप नेताओं के विदेश दौरे का ब्योरा पब्लिक किया जाएगा. मिश्रा अपने ऑफिशियल आवास पर धरने पर बैठे हैं, इसका गुरुवार को दूसरा दिन था. कपिल मिश्रा आप के जिन 5 नेताओं के विदेश दौरों की जानकारी पब्लिक करने की मांग कर रहे हैं, उनमें संजय सिंह, राघव चढ्ढा, आशीष खेतान, सत्येंद्र जैन और दुर्गेश पाठक शामिल हैं. मिश्रा ने दावा किया कि अगर पांचों नेताओं की विदेश दौरों की डिटेल को पब्लिक किया गया तो लोग केजरीवाल सरकार को उखाड़ फेंकेंगे.
भूख हड़ताल पर बैठे कपिल मिश्रा की मां और पूर्वी दिल्ली नगर निगम की पूर्व मेयर अन्नपूर्णा मिश्रा ने कहा कि उन्हें अपने बेटे पर गर्व है. बेटे के सत्याग्रह से दिल्ली की राजनीति में बदलाव आएगा. मां ने कहा, मंत्री पद जाना कोई बड़ी बात नहीं है, राजनीति में बेटा आया है तो मंत्री पद मिलना और जाना सामान्य बात है. मेरा बेटा भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाते हुए सत्याग्रह पर बैठा है. बेटा सच की लड़ाई लड़ रहा है. आज कुछ लोग साथ आए हैं, कल पूरा देश साथ होगा. उन्होंने बताया कि सत्याग्रह पर बैठने से पहले कपिल ने मंगलवार शाम को उन्हें फोन किया था और सत्याग्रह के लिए उनसे इजाजत मांगी थी. उन्होंने बताया कि उनका बेटा एक बार जो ठान लेता है, उससे पीछे नहीं हटता है.

– कपिल बीजेपी की भाषा बोल रहे हैं: संजय सिंह
संजय सिंह ने एक बार फिर आरोप लगाया कि कपिल मिश्रा बीजेपी की भाषा बोल रहे हैं. सिंह ने दावा किया, केंद्र सरकार आकाश से पाताल तक मेरी जांच कराए. अगर साबित हो गया तो मैं राजनीति से संन्यास ले लूंगा. संजय सिंह ने बताया, मैं अब तक 4 देशों का दौरा कर चुका हूं. रूस को छोड़कर दूसरे देशों में पार्टी और सामाजिक कामों से गया था. मैं भूकंप त्रासदी के दौरान पीड़ितों की मदद करने नेपाल गया था. पार्टी के काम से कनाडा गया, इसी तरह अमेरिका भी पार्टी के काम से ही गया. संजय सिंह ने कहा कि रूस में वह अपने एक परिचित की शादी में शामिल होने के लिए गए थे. उन्होंने सवाल किया कि क्या किसी की शादी में जाना देशद्रोह है?