Home पुणे पुणे में बारिश के कहर से 12 करोड़ का नुकसान

पुणे में बारिश के कहर से 12 करोड़ का नुकसान

91
0
SHARE

पुणे (तेज समाचार डेस्क). जुलाई के आखिर में हुई अधिक बारिश सेु भोर तहसील में ग्रामीण भागों में लगभग बारह करोड़ रूपए का नुकसान हुआ है. ऐसा प्राथमिक अंदाज है. २७ जुलाई से ११ अगस्त के बीच 17 दिनों में तहसील के भोलावडे  व निगुडघर इन दो विभागों में अधिक बारिश हुई. जिसके चलते फसल, जमीन व मिट्टी घसक जाना, घर गिर जाना, सड़कें टूट जाना, गड्ढे पड जाना, स्कूल व आंगनवाडी की इमारतें गिरना, बिजलीके खंबे , ग्रिड, केबल में खराबी, जलापूर्ति योजना पर असर का नुकसान हो गया.

– निर्माण कार्य विभाग को सर्वाधिक नुकसान
पंचायत समिति के निर्माण विभाग के नुकसान की राशि सबसे अधिक है. उसके पीछे सरकार के सार्वजनिक निर्माण कार्य के सड़क,पुल  का काफी नुकसान हुआ है. तलाठी, ग्रामसेवक व कृषि विभाग के कृषि सहायक के संयुक्त दस्ते के तहत कृषि के फसल व खेतों का पंचनामा किया गया. उसके अनुसार तीन इंच से  अधिक अधिक जमीन बहने वाले क्षेत्र १८-५० हेक्टेयर है. 3८५ किसान बाधित हुए हैं. मिट्टी बहनेवाले क्षेत्र ६-3० हेक्टेयर हैं. ११८ किसानों के बाधित वाले क्षेत्र १५६९ हेक्टेयर हैं.  ५८3० किसान बाधित हैं. लगभग एक करोड़ ५० लाख रूपयों का नुकसान इस अधिक बारिश से हुआ है. तहसील के ४९3०५ घरों में से २९ घर पूरी तरह से तो ७४२ घर अंशतः क्षतिग्रस्त हो गए हैं. उसमें से ५० घर मालिकों में से हर एक को छह हजार के हिसाब से तीन मिलियन रुपए राजस्व विभाग ने बांटे हैं. कृषि विभाग व घरों के  नुकसान की जानकारी अनुदान के लिए  जिलाधिकारी कार्यालय की ओर भेजे जाने की जानकारी तहसिलदार अजित पाटिल ने बताई.

– बड़े पैमाने पर सड़कों का नुकसा
सार्वजनिक निर्माण कार्य विभाग के सर्वे में यवत, मालशिरस,भोर,वाई, करंजे फाटा, भावेखल कंकवाडी, कुडली, दुर्गाडी, शिरगांव रस्ता,पुल व मोर्या के व भोर-पसुरे-पांगारी-कोंडगाव-सांगवी ते शिलीम,धारमंडप तथा च करंजे फाटा से शिरगांव की सड़कों के पत्थर, गिट्टी व डांबर तथा मिट्टी बह गए हैं. इसके अलावा महाड-पंढरपुर सड़कों का बड़ा नुकसान हुआ है. यह मार्ग आवागमन के लिए बंद है.