Home महिला जगत अपराध कम करने के लिए मनजीत ने उठाया बीड़ा

अपराध कम करने के लिए मनजीत ने उठाया बीड़ा

292
0
SHARE

अपराध कम करने के लिए मनजीत ने उठाया बीड़ा

जलगाँव के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लोहित मतानी की हैं पत्नी

पीपल्स पीस फाऊंडेशन की स्थापना

रोजगार सम्मलेन का आयोजन

किया जा रहा है महिला-सशक्तिकरण

जलगाँव ( तेजसमाचार प्रतिनिधि ) – कानून, सुरक्षा, चेतना व सामजिक दायित्व जैसी बातें यदि रोजाना जीवन की चर्चा व संवेदना का हिस्सा हों तो कोई भी भला इन जिम्मेदारियों से भला कैसे पीछे रह सकता है. उस पर भी यदि घर का कोई सदस्य पुलिस महकमे से जुडा हो तो उसके अनुभव व परिवार के सामजिक कार्य का तालमेल समाज को उपयोगी साबित होता है. ऐसा ही कुछ देखने को मिल रहा है जलगाँव के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लोहित मतानी के घर में ! वर्ष 2013 में आईपीएस की 182 वीं रैंकिंग हासिल करने वाले लोहित मतानी की पत्नी मनजीत कौर मतानी ने पति के कार्यों से प्रेरणा लेते हुए अपराध कम करने यां अपराध को जन्म लेने से पहले रोकने के लिए कमर कस ली है. हालांकि मनजीत कौर मतानी विवाह से पूर्व भी इसी तरह के सामजिक कार्यों से जुडी हुई थीं. लेकिन पहले के सामजिक कार्यों के स्वरुप के साथ अब उन्होंने अपराध कम करने के लिए आवश्यक बिदुओं पर कार्य करने का निर्णय लिया है.

मनजीत कौर मतानी ने जलगाँव में पति लोहित मतानी की पोस्टिंग होने के बाद पीपल्स पीस फाऊंडेशन की स्थापना कटे हुए अपना सामाजिक दायित्व प्रारंभ किया. तेजसमाचार से बातचीत के दौरान मनजीत ने बताया कि बेरोजगारी , आर्थिक अस्थिरता, महिला-सशक्तिकरणके अभाव में ही अपराध जन्म लेता है. यदि समाज की इन आवश्यकताओं यां समस्याओं को प्रभावी ढंग से संभालें का कार्य किया जाये तो अपराधों पर लगाम कसी जा सकती है. मनजीत ने बताया कि घर में कानून की बातें , कार्य अनुभव व विभिन्न अपराधों की केस सतुदी सुनने समझने के बाद उन्हें ऐसा लगा कि कानून को सहायता करने वाले सामजिक कार्य करना आवश्यक है. बस! यहीं से पीपल्स पीस फाऊंडेशन की शुरुवात हो गई. मनजीत कौर मतानी ने जानकारी दी कि कहते हैं खाली दिमाग, शैतान का घर.. इसी आधार पर व्यक्ति के पास काम न होने के कारण उसके दिमाग में खुराफात सूझते रहते हैं. ऐसे ही महिलाओं में अज्ञानता, हीन भावना उन्हें प्रखर नहीं होने देतीं. परिस्थिति वश बच्चों की शिक्षा रोक दी जाति है. यह सब बातें कहीं न कहीं अपराध को बढ़ावा देती हैं.

जलगाँव – भुसावल के शहरी व ग्रामीण इलाकों में मात्र तीन माह में पीपल्स पीस फाऊंडेशन के माध्यम से मनजीत कौर मतानी ने व्यापक सामजिक कार्य का प्रसार कर दिखाया है. आने वाले दिनों में वह अपने संगठन के माध्यम से एक रोजगार सम्मलेन का आयोजन भी कर रही हैं. मनजीत ने बताया कि बेरोजगारी युवाओं को अपराध की और ढकेलती है. रोजगार का उचित मार्गदर्शन न होने व योग्यता को सही हांथों तक न पहुँच पाने के कारण युवा भटक रहा है. इसी लिए पीपल्स पीस फाऊंडेशन ने यह एक सकारात्मक कदम उठाया है.

जलगाँव के रायल पेलेस में होने वाले इस रोजगार सम्मेलन में 400 से अधिक बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है. मनजीत  ने बता कि इसके लिए बड़े स्तर पर बातचीत करते हुए 150 से अधिक कंपनियों को संपर्क किया गया है . रोजगार सम्मेलन में इंफोसिस, टेक महिन्द्रा, जैसे बड़े संस्थान भी हिस्सा लेंगे. रोजगार सम्मेलन में 10वी, 12वी के अलावा एम. कॉम, बी. कॉम, एमबीए, एमसीए, एबीएम, आटीआय, डिप्लोमा, अभियांत्रिकी के युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराये जायेंगें. विशेष बात यह है कि इन सब सामजिक कार्यों के लिए पीपल्स पीस फाऊंडेशन द्वारा किसी भी जनप्रतिनिधि य शासन से आर्थिक सहायता नहीं ली गई है. अपने खर्च पर ही सामजिक कार्य किये जा रहे हैं. रोजगार सम्मेलन के लिए मनजीत के पति जलगाँव के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लोहित मतानी के आलावा मनोज बियाणी, किशोर ढाके, आनंद गांधी, पंकज दारा आदि का मार्गदर्शन – सहयोग मिल रहा है.

मनजीत के पति जलगाँव के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लोहित मतानी को भी पहले से ही सामाजिक कार्यों में रूचि रही है. पति के स्थांतरण को ध्यान में रखते हुए मनजीत का सोचना है कि इस कार्य से विभिन्न वर्ग की महिला कार्यकर्ताओं को जोड़ कर प्रशिक्षित भी किया जा रहा है ताकि पीपल्स पीस फाऊंडेशन का जनउपयोगी कार्य सतत चलता रहे.
डीप इन्वेस्टिगेशन मासिक पत्रिका के माध्यम से जबलपुर में नेत्रहीनो के लिए कार्यरत
 मनजीत कौर मध्यप्रदेश के जबलपुर की रहने वाली हैं. समाज सेवा उन्हें विरासत में प्राप्त हुई है. जबलपुर में वह अपनी माँ के साथ मिलकर गरीबों के लिए भोजन प्रबंध, बीमार मवेशियों का इलाज, लावारिस कुत्तों का प्रबंधन जैसे सामजिक कार्य कर चुकी हैं. प्रगतिशील किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाली मनजीत ने जबलपुर के रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय से एम.कॉम का शिक्षण पूरा करते हुए अपने खर्च से समाज सेवा का अपना जूनून जारी रखा.इसी दौरान उन्होंने ‘डीप इन्व्हेस्टिगेशन‘ नाम से एक मासिक पत्रिका का प्रकाशन भी प्रारंभ किया. इस पत्रिका के माध्यम से मनजीत ने सुचना के अधिकार व कानूनी जानकारी का प्रसार कर कम समय में ख्याति अर्जित की. 
मनजीत कौर मतानी इन दिनों कानून की उपाधि ले रही हैं. इसके साथ ही वह केंद्रीय लोकसेवा आयोग की तैयारी भी कर रही हैं. मनजीत जिलाधिकारी बनना चाहती हैं. उनका मानना है कि यदि वह इस परीक्षा में सफल होती हैं तो भी पीपल्स पीस फाऊंडेशन के माध्याम से सतत कार्य जारी रहेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here