Home खानदेश समाचार दोंडाईचा में पकड़ाया 48 लाख का गुटखा 6 पर मामला दर्ज

दोंडाईचा में पकड़ाया 48 लाख का गुटखा 6 पर मामला दर्ज

327
0
SHARE
dondaicha crime
धुलिया (वाहिद काकर):प्रतिबंध के बावजूद गुटखा की लगातार खरीद-बिकी हो रही है। इसका भंडाफोड़ शनिवार को हुआ। गुप्त सूचना पर पुलिस ने दोडाईचा पुलिस ने नंदुरबार चौराहे पर आयशर वाहन से बड़े पैमाने पर प्रतिबंधित गुटखा बरामद किया है। ड्राईवर व कंडक्टर को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। बताया जाता है कि नंदुरबार से दोडाईचा में अवैध बिक्री करने ट्रक भर कर लाया जा रहा था पुलिस ने वाहन समेत गुटखा का मूल्य 48 लाख 40 हजार रुपये बताया है.
शिंदखेड़ा तहसील के दोंडाईचा शहर के आसपास बड़े पैमाने पर गुजरात राज्य से प्रतिबंधित गुटखे की अवैध बिक्री की खेप  थाना प्रभारी अधिकारी हेमंत पाटील को  प्राप्त हुई उन्होंने एक टीम का गठन किया मुखबिर की सूचना के अनुसार नंदुरबार चौराहे पर जाल बिछाया गुजरात से आती एक आयशर जी. जे -22-7778 आ रही थी। उसकी तलाशी लेने पर  बैगों में  गुटखा लदा हुआ था। इसकी कीमत 48 लाख  40 हजार रुपये बतायी जा रही है। आयशर के चालक कृष्णा मगन वलवी , विरूभाई धीरुभाई तडवी  (किल्नर), राजेंद्र सोनी वाहन स्वामी मनोहर भाई नारायणभाई पवार तथा शंकर मनोहर खत्री सहित अन्य 6 को प्रतिबंधित गुटखा खरीदने का आरोपी बनाए गए हैं .
dondaicha crimeकृष्णा वलवी एवं धीरू भाई तड़वी को हिरासत में ले लिया गया है। थाना प्रभारी ने बताया कि नंदुरबार चौक पर ज्योंहि आयशर रुकी पहले से ही वहां पुलिस तैनात थी। पुलिस ने वाहन को कब्जे में लेकर गुटखा को जब्त कर लिया। दोडाईचा पुलिस गुटखा को जब्त कर मामले की छानबीन कर रही है। इस दबीश को पुलिस इंस्पेक्टर हेमंत पाटील,हेड कांस्टेबल निकुंभ ,राकेश सूर्यवंशी, प्रकाश जाधव तथा गुजराती ने प्रतिबंधित गुटखा को धर दबोचा हैं.

इनका कहना है

दोडाईचा शहर में में बड़े पैमाने पर गुटखे की अवैध बिक्री की शिकायत पर पुलिस तथा फूड एंड ड्रग विभाग कानों पर हाथ रखे कुंभकरण की नींद में सोया हुआ था , इस गोरख धंधे को बंद करने की मांग को लेकर स्वतंत्रता दिवस पर आत्मदाह करने की चेतावनी स्थानीय निवासी दौलत सुर्यवंशी ने प्रशासन को देती थी.जिसके चलते पुलिस ने 48 लाख का गुटखा जब्त किया है. इसी तरह की दबीश देकर युवा पीढ़ी को जहर खाने सेबचाने की गुहार फूड एंड ड्रग मंत्री रावल तथा ज़िला प्रशासन से लगाई है।
          दौलत सुर्यवंशी