Home खेल क्रिकेट : टीम इंडिया ने तोड़ा मिथक, 10 साल बाद ऑस्ट्रेलिया में...

क्रिकेट : टीम इंडिया ने तोड़ा मिथक, 10 साल बाद ऑस्ट्रेलिया में जीता टेस्ट

158
0
SHARE
Indian players celebrate the dismissal of Australia's Tim Paine on the final day of the first cricket test between Australia and India in Adelaide, Australia,Monday, Dec. 10, 2018. (AP Photo/James Elsby)

एडिलेड (तेज समाचार डेस्क). सोमवार को टीम इंडिया ने इस मिथक को ध्वस्त कर दिया कि ऑस्ट्रेलिया में भारत का जीतना मुश्किल होता है. सोमवार को भारत ने पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को उसी की धरती पर 31 रन से परास्त कर दिया. ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर टीम इंडिया को पूरे 10 साल बाद यह जीत मिली है. ज्ञात हो कि वर्श 2008 में अनिल कुंबले की कप्तानी में भारत ने पर्थ में ऑस्ट्रेलिया को 72 रनों से हराया था. इसके साथ ही एडिलेड में 15 साल बाद भारत ने जीत हासिल की है. पिछली बार 2003 में सौरव गांगुली की कप्तानी में एडिलेड टेस्ट में सफलता मिली थी. दोनों टीमों के बीच 71 साल के टेस्ट इतिहास में पहली बार भारत सीरीज का पहला मैच जीता. चार मैचों की सीरीज का दूसरा टेस्ट 14 दिसंबर से पर्थ में खेला जाएगा.
– ऑस्ट्रेलियाई टीम नहीं पूरा कर पाई 323 रनों का लक्ष्य
भारत से मिले 323 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम दूसरी पारी में आखिरी दिन 291 रन पर सिमट गई. शॉन मार्श ने सर्वाधिक 60 और कप्तान टिम पेन ने 41 रन बनाए. टीम इंडिया के लिए मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और रविचंद्रन अश्विन ने 3-3 विकेट लिए. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 235 रन बनाए थे. वहीं, भारतीय टीम ने पहली पारी 250 और दूसरी 307 रन बनाए थे.
– ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट जीतने वाले पांचवें भारतीय कप्तान बने विराट कोहली
ऑस्ट्रेलियाई धरती पर भारत का यह 45वां टेस्ट था. टीम इंडिया को यह छठी जीत हासिल हुई. 28 में हार मिली और 11 मुकाबले ड्रॉ रहे. विराट वहां मैच जीतने वाले पांचवें भारतीय कप्तान बन गए. सबसे पहले 1977 में बिशन सिंह बेदी की कप्तानी में जीत मिली थी. उनके नेतृत्व में भारत दो टेस्ट वहां जीता है. दो टेस्ट जीतने वाले वे एकमात्र कप्तान हैं. इस लिस्ट में सुनील गावस्कर, सौरभ गांगुली और अनिल कुंबले का भी नाम है.
– ऑस्ट्रेलिया के नाम भी बना रिकॉर्ड
एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया चौथी पारी में हाइएस्ट 315 रन तक लक्ष्य ही हासिल कर पाया है. उसने 1902 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में चौथी पारी में छह विकेट पर 315 रन बनाकर मैच जीता था. इसके बाद उसने पहली बार 200 का आंकड़ा छुआ. 116 साल के बाद ऑस्ट्रेलिया के नाम यह रिकॉर्ड बना है.
– ऋषभ पंत का कारानामा, किए 11 शिकार
ऋषभ पंत एक टेस्ट में सबसे ज्यादा शिकार करने वाले तीसरे विकेटकीपर बने. उन्होंने इस मैच में 11 शिकार किए. इस मामले में पंत ने इंग्लैंड के जैक रसेल और दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स की बराबरी की. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट, भारत के ऋद्धिमान साहा और इंग्लैंड के बॉब टेलर (10 शिकार) को पीछे छोड़ा.
– इशांत शर्मा ने झटका पहला विकेट
पांचवें दिन इशांत शर्मा ने भारतीय टीम को पहली सफलता दिलाई. उन्होंने उन्होंने 57वें ओवर में ट्रैविस हेड को अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच आउट कराया. हेड ने 62 गेंद में 14 रन बनाए. उनके बाद जसप्रीत बुमराह ने 73वें ओवर की पहली गेंद पर शॉन मार्श को पवेलियन भेजा. मार्श ने 166 गेंद में 60 रन बनाए. टेस्ट करियर में पहली बार चौथी पारी में उन्होंने अर्धशतक लगाया.
– ऐसे हुआ विकेटों का पतन
पहला विकेट : पारी का 12वां ओवर अश्विन ने फेंका. आखिरी गेंद पर फिंच सामने थे. उन्होंने गेंद को खेलने की कोशिश की, लेकिन विकेट के पीछे ऋषभ ने उनका कैच पकड़ लिया. उस समय ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 28 रन था.
दूसरा विकेट : ऑस्ट्रेलिया के स्कोर में 16 रन ही और जुड़े थे कि मोहम्मद शमी की गेंद को कट करने की कोशिश में मार्क्स हैरिस विकेट के पीछे ऋषभ के हाथों लपके गए. उन्होंने 26 रन बनाए.
तीसरा विकेट : फिंच के आउट होने पर मैदान में उस्मान ख्वाजा आठ रन पर थे. उन्होंने रविचंद्रन अश्विन की एक गेंद को सीमा रेखा के पार भेजने की कोशिश की, लेकिन स्वीपर कवर में रोहित शर्मा ने उनका कैच पकड़ लिया.
चौथा विकेट : शुरुआती तीन बल्लेबाजों के आउट होने के बाद शॉन मार्श और पीटर हैंड्सकॉम्ब ने चौथे विकेट के लिए 24 रन जोड़ लिए थे. तभी भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इशांत शर्मा की जगह शमी को गेंद थमाई. शमी ने पांचवीं गेंद पर पीटर हैंड्सकॉम्ब को मिड-विकेट पर चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच आउट करा दिया.
पांचवां विकेट: इशांत शर्मा ने पांचवें दिन भारत को पहली सफलता दिलाई. उन्होंने 57वें ओवर में ट्रैविस हेड को अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच आउट कराया. हेड ने 62 गेंद में 14 रन बनाए.
छठा विकेट: जसप्रीत बुमराह ने 73वें ओवर की पहली गेंद पर शॉन मार्श को पवेलियन भेजा. मार्श ने 166 गेंद में 60 रन बनाए.टेस्ट करियर में पहली बार चौथी पारी में उन्होंने अर्धशतक लगाया.
सातवां विकेट: बुमराह ने लंच के बाद 85वें ओवर में कप्तान टिम पेन को आउट कर दिया. पेन ने 41 रन बनाए. उन्होंने सातवें विकेट के लिए पैट कमिंस के साथ 31 रन की साझेदारी की.
आठवां विकेट: मोहम्मद शमी ने 101वें ओवर में मिशेल स्टार्क को ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट कराया. स्टार्क ने 28 रन बनाए. उन्होंने कमिंस के साथ 41 रन की साझेदारी की.
नौवां विकेट: बुमराह ने पैट कमिंस को कोहली के हाथों कैच आउट कराया. कमिंस ने 28 रन बनाए.
दसवां विकेट: अश्विन ने आखिरी विकेट के रूप में जोश हेजलवुड को आउट किया. हेजलवुड ने 13 रन बनाए. लोकेश राहुल ने उनका कैच पकड़ा.