Home खानदेश समाचार यातायात नियमों का पालन करना संस्कार के रूप में बच्चों को दिया...

यातायात नियमों का पालन करना संस्कार के रूप में बच्चों को दिया जाए: सहाने

72
0
SHARE

यातायात नियमों का पालन करना संस्कार के रूप में बच्चों को दिया जाए: सहाने

धुलिया (वाहिद काकर ): एसटी कर्मियों तथा लोगों को जागरूक करने के लिए एसटी ने सड़क सुरक्षा अभियान का शनिवार को दीप प्रज्वलन कर आगाज किया इस मौके के पर सड़क सुरक्षा जागरूक कार्यक्रम आयोजित किया गया प्रमुखअतिथि के तौर पर  लाधिकारी देवराजन गंगाथरन ,भगवान जगनोर ,धर्मदास पाटील उपस्थित थे.परिवहन विभाग द्वारा चेतन चाकोर , जगदीश चौधरी तथा महेश सहाने इंस्पेक्टरों को भेजा गया था.

संभागीय परिवहन कार्यालय के वाहन निरीक्षक महेश सहाने ने राज्य परिवहन निगम के वाहन चालक तथा परिचालकों को मार्गदर्शन करते हुए बस चालकों को सड़क सुरक्षा के नियमों से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि जीवन अनमोल है। जरा सी चूक जीवन को संकट में डाल देती है। इसलिए खुद भी यातायात के नियमों का पालन करें और दूसरों को भी प्रेरित करें। सुरक्षा की पहली मंजिल घर होता है  बच्चों को सड़क सुरक्षा की जानकारी दे इस अभियान में सभी सरकारी विभागों ने शामिल होने की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि सड़क सुरक्षा के नियमों को संस्कार की तरह बालपन में ही बच्चों को देना चाहिए जिस तरह से हम बच्चों को बड़ों का आदर करना संस्कार के रूप में सिखाते हैं उसी तरह से सड़क पर वाहन चलाने के नियम भी बच्चों को बाल अवस्था में देंगे तो हेलमेट हमें बोझ नहीं सुरक्षित लगेगा इस जुर्माना नही लगेगा .विचारधारा बदलने की आवश्यकता है.

11 से 25 जनवरी तक मनाया जाएगा ‘सड़क सुरक्षा अभियान’इस कार्यक्रम का उद्घाटन जिलाधिकारी देवराजन गंगाथरन एसटी की संभागीय अधिकारी मनीषा सपकाले ने दीप प्रज्वलित कर किया है।इस मौके पर बड़ी संख्या में एसटी विभाग के वाहन चालक कंडक्टर हेल्पर तथा अन्य कर्मी उपस्थित थे.

कलेक्टर गंगाधर ने कहा कि वाहन चालकों को हमेशा हेलमेट पहनकर ही सफर करना चाहिए तथा बड़े वाहनों को भी यातायात के नियमों का पालन करते हुए सीमित गतिसीमा सीट बेल्ट में वाहनों का परिचालन किया जाना चाहिए। उनके अनुसार सड़क दुर्घटना में तेज रफ्तार से वाहन का परिचालन भी मुख्य कारण है। वाहन चालकों को सिर्फ पुलिस कर्मियों से बचने के लिए हेलमेट नहीं पहना चाहिए, बल्कि जीवन से रक्षा हेतु हमेशा वाहन चलाते समय हेलमेट पहनना चाहिए।  एसटी पर देश के नागरिकों का विश्वास है. वाहन चालकों ने नशे से दूर रहकर सावधानी पूर्वक वाहन चलाते हुए मोबाइल तथा संगीत ईयर फोन का उपयोग नही करने की सलाह दी और कहा कि रास्ता सभी के लिए है. एसटी पर विश्वास बनाए रखने सावधानीपूर्वक वाहन चलाएं दुर्घटना कम करने का प्रयास करें इस तरह से जिलाधिकारी ने इस प्रकार एसटी कर्मियों को रोड सेफ्टी पखवाड़ा के मौके पर मार्गदर्शन किया