Home पुणे बकरी ईद का खर्च टालकर बाढ़ पीड़ितों के लिए दिए एक लाख...

बकरी ईद का खर्च टालकर बाढ़ पीड़ितों के लिए दिए एक लाख रुपए

96
0
SHARE

मजदूर नेता इरफान सैयद की पहल

पिंपरी (तेज समाचार डेस्क). बाढ़ से जूझ रहे कोल्हापुर, सांगली, सातारा के पीड़ितों की मदद के लिए शिवसेना के वरिष्ठ नेता व मजदूर नेता इरफान सय्यद ने बकरी ईद का खर्च टालकर एक लाख रुपए की निधि दी है। उन्होंने यह निधि शिवसेना की युवा इकाई के प्रमुख आदित्य ठाकरे को सौंपकर पिंपरी चिंचवड़ के मुस्लिम समुदाय के समक्ष एक आदर्श प्रस्तुत किया है। ठाकरे ने उनके इस फैसले की सराहना की और उन्हें ईद की शुभकामनाएं दी।
इस बारे में इरफान सय्यद ने कहा कि, बकरी ईद मुस्लिम समुदाय के लिए काफी मायने रखती है। मगर इस बार ईद की खुशी से ज्यादा जरूरी है बाढ़ पीड़ितों के आंसू पोंछना। ऐसे माहौल में उनकी सहायता करना हम सभी की सामूहिक जिम्मेदारी है। इससे पहले हमने महाराष्ट्र मजदूर संगठन और पिंपरी चिंचवड़ के मजदूरों की ओर से बाढ़ पीड़ितों के लिए जीवनावश्यक वस्तुएं और मेडिकल टीम भेजे हैं। उन्होंने शहर के गणेशोत्सव मंडलों से भी अपील की है कि, इस साल साज- सज्जा पर होनेवाला खर्च टालकर बाढ़ पीड़ितों की मदद करें।
नेहरूनगर वासियों ने दिया मदद का हाथ 
यहां पिंपरी के नेहरूनगर के नागरिकों ने भी बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया है। स्थानीय नगरसेवक राहुल भोसले की अगुवाई में बाढ़ पीड़ितों के लिए अनाज, बिस्कुट, पानी की बोतलें, कपड़े, स्वच्छता की सामग्री और दवाइयां आदि जमा की गई। बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए सोशल मीडिया पर एक ग्रुप बनाकर लोगों से सहायता की अपील की जा रही है जिसे लोगों से भारी तवज्जो मिल रही है।
यमुनानगर से ‘शिवसहाय्य मदद’ रवाना
यहां निगड़ी के यमुनानगर इलाके में शिवसेना की वरिष्ठ नेता सुलभा उबाले की अगुवाई में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए ‘एक हाथा मदद का.. एक हाथ कर्तव्य का’ उपक्रम चलाया गया। इसके तहत दो हजार साड़ियां, 500 ब्लँकेट, एक हजार शर्ट- पँट, और 15 दिनों के लिए पर्याप्त साबित हो इतनी जीवनावश्यक वस्तुओं का सेट एवं 11 हजार 111 रुपए की निधि बाढ़ पीड़ितों के लिए भेजी गई। इसके अलावा एक बाढ़ग्रस्त गांव गोद लेने का फैसला भी किया गया। इस मौके पर सुलभा उबाके, मजदूर नेता इरफान सय्यद, पूर्व नगरसेविका शुभांगी बोऱ्हाडे, शशीकला उभे, भारती चकवे, जनाबाई गोरे, रामभाऊ उबाले, संजय बोऱ्हाडे, नितीन बोंडे, सतीश मरल, गणेश इंगवले , नारायण कोर्वी, मारुती उभे, युवानेते अजिंक्य उबाले, युवासेनेचे अमित शिंदे, कौस्तुभ गोले आदि उपस्थित थे।