Home पुणे विधवा प्रेमिका की 7 साल की बच्ची से दुष्कर्म

विधवा प्रेमिका की 7 साल की बच्ची से दुष्कर्म

165
0
SHARE

आरोपी ने भी घटना के बाद की फांसी लगा कर आत्महत्या

पिंपरी (तेज समाचार डेस्क). पिंपरी चिंचवड की उद्योगनगरी में मंगलवार को तब खलबली मच गई, जब दापोडी में यौन शोषण के बाद सात साल की एक बच्ची की गला घोंटकर निर्ममता से हत्या कर दी गई. मंगलवार दोपहर डेढ़ बजे के करीब सामने आई इस वारदात के आरोपी, जो बच्ची की मां के साथ शादी रचाने की मांग कर रहा था, ने भी सीएमई (कॉलेज ऑफ मिलिट्री इंजीनियरिंग) के गेट पास की झाड़ियों में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बताया जा रहा है कि उसका बच्ची की मां के साथ झगड़ा हुआ था जिसका बदला लेने के लिए उसने इस वारदात को अंजाम दिया.
पुलिस के मुताबिक विजय महादेव यादव (23) निवासी देवराया, गजियाबाद, उत्तर प्रदेश ऐसा खुदकुशी करने वाले आरोपी का नाम है. वह और बच्ची की मां, जो आठ माह पहले पति की मौत के बाद दापोडी में अपनी दो बेटियों के साथ रहती है, दोनों एक साथ सीएमई के ऑफिसर मेस में काम करते हैं.
– शादी से इनकार कर रही थी महिला
विजय बच्ची की मां के साथ शादी करना चाहता था, जिससे वह लगातार इन्कार कर रही थी. बीती रात इसी बात को लेकर उनके बीच झगड़ा हुआ, जिसमें विजय ने उसे कल सुबह देख लेने और जीवन भर याद रखने जैसे अंजाम भुगतने की धमकी दी. आज सुबह वह उसके घर मे घुसा और उसकी सात साल की बेटी को अपनी हवस का शिकार बनाने के बाद उसकी हत्या कर दी.
जब यह वारदात हुई तब बच्ची की मां काम पर और बड़ी बहन स्कूल गई थी, जिससे वह घर पर अकेली ही थी. उसकी हत्या के बाद विजय ने वहीं फांसी लगाकर खुदकुशी करने की कोशिश की मगर वह नाकाम रहा. जब बच्ची की मां घर लौटी तब अपनी बेटी को बेड के नीचे पाया. उसने तत्काल उसे पिंपरी चिंचवड मनपा के वाईसीएम हॉस्पिटल में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. जांच में उसके साथ बलात्कार किए जाने की पुष्टि हुई. यह सुनकर उसकी मां बेहोश हो गई. पुलिस ने मौके पर पहुंच कर छानबीन शुरू की. आज सुबह विजय बच्ची के घर पर आया था, यह पता चलने के बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की.
– ऐसा उजागर हुआ मामला
विजय के घर पर आने की बात पता चलने के बाद पुलिस ने बच्ची की मां से पूछताछ की और उसका मोबाइल नंबर हासिल किया. उस नंबर को ट्रेस करने पर लोकेशन सीएमई से खड़की जाता दिखाता रहा. इसके अनुसार उपायुक्त स्मार्तना पाटिल, सहायक आयुक्त राम जाधव, क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ निरीक्षक उत्तम तांगडे, भोसरी थाने के वरिष्ठ निरीक्षक नरेंद्र जाधव ने अलग- अलग टीमों के साथ सीएमई जानेवाले सभी रास्ते सील किये. घनी झाड़ियों के कारण तलाशी अभियान में दिक्कतें आती रही. मगर टेक्निकल एक्सपर्ट की मदद से यादव के मोबाइल का पल पल का लोकेशन मिलता रहा. सीएमई के जवानों के साथ मिलकर सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया. बाद में लोकेशन थम गया जब टीम वहां पहुंची तब यादव बाउंड्री वॉल की तारों से बने फंदे से झूलता पाया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here