Home खानदेश समाचार विद्यापीठ परीक्षाओं के परिणाम में आर.सी. पटेल अभियांत्रिकी की स्वर्ण पंचमी

विद्यापीठ परीक्षाओं के परिणाम में आर.सी. पटेल अभियांत्रिकी की स्वर्ण पंचमी

367
0
SHARE

5 स्वर्ण पदक सहित 57 छात्र गुणवत्ता सूची में प्रथम दस स्थान पर

शिरपुर (तेज समाचार प्रतिनिधि):कवयित्री बहिनाबाई चौधरी उत्तर महाराष्ट्र विश्वविद्यालय द्वारा अप्रैल-मई 2018 में इंजीनियरिंग शाखाओं की विभिन्न परीक्षाओं के परिणाम हाल ही में घोषित किए गए हैं. इसमें आर.सी. पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की विभिन्न शाखाओं ने 5 स्वर्ण पदक जीतकर कॉलेज की शानदार सफलता की परंपरा को बनाए रखा है. कॉलेज ने अब तक 42 स्वर्ण पदक जीते हैं. इस वर्ष मेरिट सूची में प्रथम 10 में महाविद्यालय के तृतीय व चतुर्थ वर्ष के 57 छात्रों ने स्थान प्राप्त किया है. इसमें 08 छात्रों ने पहला, 04 छात्रों में दूसरा स्थान और अन्य 9 छात्रों ने तीसरा स्थान प्राप्त किया है.

कवयित्री बहिनाबाई चौधरी उत्तर महाराष्ट्र विश्वविद्यालय ने इंजीनियरिंग संकाय परीक्षाओं के लिए परिणाम घोषित किए हैं. इसमें आर.सी. पटेल इंजीनियरिंग कॉलेज के सूचना प्रौद्योगिकी इंजीनियरिंग विभाग के जाधव हर्षदा विक्रम, मैकेनिकल इंजीनियरिंग शाखा के चौधरी जयेश श्यामराव, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग शाखा के नेमाडे रामचंद्र सुधाकर और कंप्यूटर इंजीनियरिंग के पाटिल सूर्यकांता गोपालराव ने स्वर्ण पदक हासिल किया था. विशेष रूप से, कंप्यूटर इंजीनियरिंग की छात्रा पाटिल सूर्यकांता ने विश्वविद्यालय में सभी लड़कियों में प्रथम स्थान प्राप्त करके दूसरा स्वर्ण पदक अर्जित किए हैं.

शाखा और वर्ग निहाय परिणाम इस प्रकार हैं :

 कंप्यूटर इंजीनियरिंग :

चतुर्थ वर्ष : स्वर्ण पदक – पाटिल सूर्यकांता गोपालराव (ग्रेड 9.51 विश्वविद्यालय में प्रथम), बारी जयदीप (विश्वविद्यालय में ग्रेड 9.34 द्वितीय), कुंभार असावरी दिलीप (ग्रेड 9.25 विश्वविद्यालय में चौथे स्थान पर), तिवारी नेहा ताराचंद (ग्रेड 9.20 विश्वविद्यालय में 5वीं), सोनावणे योगिनी एकनाथ (ग्रेड 9.15 विश्वविद्यालय में 6वीं), पाटिल सायली अविनाश (ग्रेड 9. 06 स्कूल विश्वविद्यालय में 9वीं), पाटिल हर्ष (ग्रेड 8.98 विश्वविद्यालय में 10वां).
– तृतीय वर्ष : महाजन श्वेता दत्तात्रेय (ग्रेड 9.05 विश्वविद्यालय में तृतीय), निकुम सौरभ (ग्रेड 9.05 विश्वविद्यालय में तृतीय), धमानी रवीना गोविंद (ग्रेड 8.91 विश्वविद्यालय में 6वीं).

सूचना और प्रौद्योगिकी इंजीनियरिंग :

– चतुर्थ वर्ष : स्वर्ण पदक – जाधव हर्षदा विक्रम (ग्रेड 8.86 विश्वविद्यालय में प्रथम), अमित राजेश चौधरी (ग्रेड 8.66 विश्वविद्यालय में द्वितीय), मराठे मृणाल दीपक (ग्रेड 8.59 विश्वविद्यालय में चतुर्थ), तनेजा साक्षी मोहन (ग्रेड 8.50 विश्वविद्यालय में 5वीं), पवार प्रतीक्षा नंदकिशोर (ग्रेड 8.26 विश्वविद्यालय में 9वीं).

तृतीय वर्ष : – बिरारी सुचिता संजय (ग्रेड 8.96 विश्वविद्यालय में प्रथम), तनेजा मुस्कान मोहन (ग्रेड 8.89 विश्वविद्यालय में तृतीय), पाटिल नेहा मनोज (ग्रेड 8.86 विश्वविद्यालय में चतुर्थ), पाटिल हर्षदा दिलीप (ग्रेड 8.69 विश्वविद्यालय में 5वीं), पाटिल रोहिणी नीलकंठराव (ग्रेड 8.50 विश्वविद्यालय में 6वीं), शाह सृष्टि भूपेश (ग्रेड 8.38 विश्वविद्यापीठ में 8वीं), पाटिल हितेश राजेंद्र (ग्रेड 8.25 विश्वविद्यालय में 9वां).

इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्यूनिकेशन अभियांत्रिकी :

चतुर्थ वर्ष : पाटिल मानसी सुदाम (ग्रेड 9.03 विश्वविद्यालय में तृतीय), बडगुजर प्रियंका सुरेश (ग्रेड 8.84 विश्वविद्यालय में पांचवीं).
तृतीय वर्ष : परदेशी दिव्या दिनेशसिंह (ग्रेड 9.54 विश्वविद्यालय में प्रथम), गुजराती मधुर अशोक (ग्रेड 9.03, विश्वविद्यालय में तृतीय), पाटिल अश्विनी बारकू (ग्रेड 8.91, विश्वविद्यालय में चतुर्थ), पाटिल जागृति रामचंद्र (ग्रेड 8.88 विश्वविद्यालय में पांचवीं), कोठावदे श्रद्धा दिलीप (ग्रेड 8.78 विश्वविद्यालय में ६वीं), कदम पूजा रामदास (ग्रेड 8.६१ विश्वविद्यालय में सातवीं), चौधरी हृषिकेश हीरालाल (ग्रेड 8.49 विश्वविद्यालय में 9वां).

मैकेनिकल इंजीनियरिंग :

चतुर्थ वर्ष : स्वर्ण पदक – चौधरी जयेश शामराव (ग्रेड 9.21 विश्वविद्यालय में प्रथम), सैयद अल्तामश अली अशफाक अली (ग्रेड 9.16 विश्वविद्यालय में द्वितीय), सोनावणे दिनेश धनराज (ग्रेड 9.04 विश्वविद्यालय में तृतीय), पाटिल गीतेश ताराचंद (ग्रेड 8.93 विश्वविद्यालय में पांचवां), पाटिल बिभिषण चंद्रकांत (ग्रेड 8.93 विश्वविद्यालय में पांचवां), पाटिल हितेश दिनेश (ग्रेड 8.89 विश्वविद्यालय में 6वां), पाटिल कपिलकुमार जीजाबराव (ग्रेड 8.80 विश्वविद्यालय में नौवां), वारुउे लतेश सुकलाल (ग्रेड 8.76 विश्वविद्यालय में दसवां).

तृतीय वर्ष : पाटिल करण साहेबराव (ग्रेड 9.12 विश्वविद्यालय में प्रथम), वाघ मयूर रवींद्र (ग्रेड 9.04 विश्वविद्यालय में द्वितीय), मराठे तेजस प्रकाश (ग्रेड 8.99 विश्वविद्यालय में तृतीय), सूर्यवंशी मयूरेश गोविंदा (ग्रेड 8.87 विश्वविद्यालय मे चतुर्थ), पवार हर्षल नामदेव (ग्रेड 8.80 विश्वविद्यालय में पांचवां), धनगर विकास दगडू (ग्रेड 8.51 विश्वविद्यालय में आठवां).

सिविल इंजीनियरिंग :

चतुर्थ वर्ष: – वाघ हर्षल जितेंद्र (ग्रेड 9.17 विश्वविद्यालय में तृतीय), गोपाल प्रदीप कैलास (ग्रेड 8.92 विश्वविद्यालय में सातवां), लोहार पल्लवी सुदाम (ग्रेड 8.91 विश्वविद्यालय आठवां).
तृतीय वर्ष : हजारी हर्षिता मनोजसिंह (ग्रेड ९.२६ विश्वविद्यालय में तृतीय), शिरसाठ हर्षदा दिलीप (ग्रेड ९.०० विश्वविद्यालय में सातवां).

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग :

चतुर्थ वर्ष : स्वर्ण पदक नेमाडे रामचंद्र सुधाकर (ग्रेड 8.78 विश्वविद्यालय में प्रथम), परदेशी नितेश लक्ष्मीनारायण (ग्रेड 8.53 विश्वविद्यालय में आठवां). पवार रेणुका भगवान (ग्रेड 8.52 विश्वविद्यालय में नववीं).

तृतीय वर्ष : चौधरी अश्विनी प्रकाश (ग्रेड 8.98 विश्वविद्यालय में प्रथम), वाडिले प्रियंका अशोक (ग्रेड 8.63 विश्वविद्यालय में पांचवी.), ठाकुर दिनेश संतोष (ग्रेड 8.62 विश्वविद्यालय में 6वां), काकडे करिश्मा अजीत (ग्रेड 8.41 विश्वविद्यालय में नौवां).

शिरपुर एजुकेशन सोसाइटी के अध्यक्ष अमरीशभाई पटेल, कार्यकारी अध्यक्ष भूपेशभाई पटेल, उपाध्यक्ष राजगोपालजी भंडारी, संचालक तपनभाई पटेल, पूर्व कुलपति डॉ. के. बी. पाटिल, कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. जे. बी पाटिल, उप-प्राचार्य डॉ. प्रमोद देवरे, विभाग प्रमुख प्रा. सुहास शुक्ल, प्रा. नितिन पाटिल, प्रा. प्रवीण सरोदे, प्रा. जी. वी. तपकिरे, प्रा. वी. एस. पाटिल, जनसंपर्क अधिकारी प्रशांत महाजन और कॉलेज के शिक्षकों और गैर शिक्षक कर्मचारियों ने विद्यार्थियों की इस सफलता की सराहना करते हुए संतोष व्यक्त किया.

अब तक कंप्यूटर इंजीनियरिंग शाखा से 14, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्यूनिकेशन शाखा के कुल 11, सूचना और इंजीनियरिंग शाखा के 8, मैकेनिकल अभियांत्रिकी शाखा के 6, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग शाखा के 2, सिविल इंजीनियरिंग शाखा के 1 इस प्रकार कुल 42 स्वर्ण पदक अभी तक प्राप्त हुए है.

उच्च स्तरीय शिक्षा, अनुशासित नियोजन, विद्यार्थियों की गुणवत्ता के अनुसार कक्षा संरचना और शिक्षण पद्धति के द्वारा किए गए नियमित कक्षा परीक्षण और ट्यूटोरियल द्वारा निरंतर मार्गदर्शन, छात्र की उपलब्धि और गुणवत्ता ग्राफ को बढ़ाते हैं. नतीजतन, कॉलेज ने अब तक 42 स्वर्ण पदक जीते हैं. सॉफ्ट स्कील, व्यक्तित्व विकास और शैक्षणिक गुणवत्ता के साथ साक्षात्कार तकनीकों की मदद से, कॉलेज ने प्लेसमेंट में भी उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की हैं. इस वर्ष कॉलेज के 407 छात्रों को विभिन्न कंपनियों द्वारा कैंपस प्लेसमेंट के माध्यम से उच्च वेतन श्रेणी में चुना गया है.

Dr.J.B.Patil

– प्राचार्य डॉ. जेबी पाटिल