Home खानदेश समाचार तंबाकू मुक्त भारत के लिए आयोजित किया गया संकल्प अभियान

तंबाकू मुक्त भारत के लिए आयोजित किया गया संकल्प अभियान

101
0
SHARE
जलगांव (नरेंद्र इंगले):देश के 73 वे स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य मे जिले मे रंगारंग कार्यक्रमो का आयोजन किया गया ! सभी सरकारी , निमसरकारी तथा स्कूली इकायियो मे तिरंगा फहराया गया ! तंबाकू के कारण समाज मे पनप रहि स्वास्थ कि अव्यवस्था को देखते हुए जिलाधिकारी के आदेश से जिले के प्रत्येक सरकारी अस्पताल मे झंडारोहण के लिए मौजुद तमाम नागरीको तथा कर्मीयो को तंबाकू निरोधी शपथ दिलायी गयी ! यावल तहसिल के किनगांव स्वास्थ केंद्र मे केंद्र प्रमुख डा मनिषा महाजन ने ध्वजारोहण के बाद गांव के सभी नागरीको को तंबाकू सेवन से होने वाली कैंसर जैसी जानलेवा बिमारी के विषय मे जनजागृती करते बताया कि तंबाकू का उपयोग हानिकारक प्रभाव पैदा करता है !
राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम अंतर्गत कोटपा एक्ट 2003 का प्रचार प्रसार करने के साथ हि इसका अनूपालन कैसे होगा यह देखना भी सच्चे भारतीय होने के नाते हम सब का दायित्व है ! तंबाखू सेवन मे हो रहे इजाफ़े के कारण फैलने वाली संक्रामक बिमारीयो कि रोकथाम समय रहते आवश्यक है ! जामनेर के फत्तेपुर केंद्र मे भी तहसिल स्वास्थ अधिकारी डा राजेश सोनवणे , एकनाथ लोखंडे सरपंच बेबीबाई पाटील , डा पल्लवी सोनवणे , मुन्ना शेठ बंब , सुधाकर पाटील , संजय चौधरी, देवानंद लोखंडे , ज्योती चौधरी रमेश भोळे डॉ. विवेक जाधव , टी. आर.पाटील , आवळाबाई चौधरी ,अर्चना गवई ,सुनील पाटील , युवराज वाघ , अनंता अवचार , अमोल वाघ , मनीषा शेळके, रेखा तायडे , सुनीता पाटील , प्रकाश महाले , कविता वाहुले , लीना चौधरी , एम. डी. राठोड ,  ज्योती महोरिया , शांताराम खोतकर , पुजा चौधरी आदी मान्यवरो कि उपस्थिती मे तंबाखू निरोधी संकल्प को वचनबद्ध किया गया ! संवाददाता से वार्तालाप मे डा मनिषा ने बताया कि देश मे 61 फीसद मौते हृदयरोग कैंसर मधुमेह से होती है , 8 फीसद मौते कैंसर से होती है जिनमे 95 फीसद मामले सिधे तंबाकू सेवन से जुडे हुए है मेरी जानकारी के मुताबीक देश के  80 नामचीन चिकित्सको ने प्रधानमंत्री को इस विषय पर लिखकर एन्ड़स के नियम बनाने का आग्रह किया है !
तंबाकू कि खपत मे भारत विश्व मे दुसरे स्थान पर बिराजीत है !  बहरहाल आज स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य मे लाल किले से देश के नाम अपने डेढ घंटे के संबोधन मे प्रधानमंत्री ने सभी बिंदुओ पर खुलकर अपनी राय रखी जिसमे सार्वजनिक स्वास्थ को लेकर भी काफी कुछ था उम्मीद यहि बचती है कि उस दिशा मे कुछ तो हो सकेगा !