Home खेल धोनी जैसे चैम्पियन इतनी जल्दी खत्म नहीं होते : गांगुली

धोनी जैसे चैम्पियन इतनी जल्दी खत्म नहीं होते : गांगुली

89
0
SHARE
– बीसीसीआई का अध्यक्ष पद संभालने के बाद सौरव गांगुली की पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस
– टीम इंडिया की तरह ही बोर्ड को लीड करुंगा
मुंबई (तेज समाचार डेस्क). बीसीसीआई के 39वे अध्यक्ष के रूप में बागडोर संभालने के बाद बुधवार को सौरव गांगुली ने टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर बात की. गांगुली ने कहा कि चैम्पियन इतनी जल्दी खत्म नहीं होते. जब तक मैं यहां हूं, यहां हर किसी का सम्मान होगा. पूर्व कप्तान धोनी जुलाई में हुए वर्ल्ड कप के बाद से टीम इंडिया में नहीं हैं. उन्होंने क्रिकेट से ब्रेक लिया है. ऐसा माना जा रहा है कि वे दिसंबर से वापसी करेंगे.
– कोहली को जो चाहिए, वह मिलेगा
कप्तान विराट कोहली के बारे में गांगुली ने कहा- मेरी उनसे गुरुवार को मुलाकात होगी. जो भी वह चाहते हैं, मैं उनका हर संभव तरीके से समर्थन करूंगा.
– धोनी एक महान खिलाड़ी
गांगुली ने कहा, ‘मैं नहीं जानता कि धोनी के दिमाग क्या है, लेकिन उनके कद के खिलाड़ियों को सम्मान दिया जाएगा. वे महान खिलाड़ियों में से एक हैं. भारतीय टीम को गर्व है कि धोनी लंबे से साथ हैं.’ सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूर्नामेंट 9 नवंबर से शुरू हो रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि धोनी वेस्टइंडीज के खिलाफ दिसंबर में खेलेंगे. हालांकि, अभी यह जानकारी नहीं दी गई है कि वे तैयारियों को पुख्ता करने के लिए इस घरेलू टूर्नामेंट में खेलेंगे या नहीं.
– कोहली महत्वपूर्ण व्यक्ति
बोर्ड के नए अध्यक्ष ने कहा कि कोहली बेहद महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं. हम उन्हें पूरी तरह सुनेंगे. एक-दूसरे का सम्मान होगा और विचारों का आदान-प्रदान भी होगा. उन्होंने कहा कि ईमानदारी और भ्रष्टाचार मुक्त वातावरण से कोई समझौता नहीं किया जाएगा. बोर्ड को उसी तरह चलाऊंगा, जैसे मैंने टीम इंडिया को लीड किया था.
– गांगुली बीसीसीआई के 39वें अध्यक्ष बने
गांगुली ने बुधवार को मुंबई में बीसीसीआई के नए अध्यक्ष का पद संभाला. वे बीसीसीआई के 39वें अध्यक्ष हैं. इसी के साथ 33 महीने पहले सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित प्रशासकों की समिति (सीओए) भी भंग हो गई. गांगुली निर्विरोध चुने गए हैं. वे जुलाई 2020 तक इस पद पर बने रहेंगे. गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय ने सचिव और वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर के भाई अरुण धूमल ने कोषाध्यक्ष का पद संभाला. इनके अलावा उत्तराखंड के महिम वर्मा उपाध्यक्ष और केरल के जयेश जॉर्ज संयुक्त सचिव बने.