Home खानदेश समाचार शिरपुर : किसानों को तत्काल आर्थिक सहायता प्रदान करने फसल बीमा अधिकारी...

शिरपुर : किसानों को तत्काल आर्थिक सहायता प्रदान करने फसल बीमा अधिकारी ने किया मार्गदर्शन

127
0
SHARE

शिरपुर : किसानों को तत्काल आर्थिक सहायता प्रदान करने फसल बीमा अधिकारी ने किया मार्गदर्शन

पूर्व मंत्री अमरिशभाई पटेल,विधायक काशिराम पावरा, भुपेशभाई पटेल के  प्रयत्नो से  फसल बीमा अधिकारी की उपस्थिति में बैठक का आयोजन
धुलिया (वाहिद ककर ): गत वर्ष में किसानों को नो करोड रुपए के फसल बीमा का भुगतान अमरीश  पटेल परिवार के सदस्यों के अथक प्रयासों से कराया गया था.इस साल भी बीम कंपनी के अधिकारी की उपस्थिति में फसल बीमा योजना का लाभ और क्लेम मुआवजा मिलने किसानों को एक बैठक के द्वारा मार्गदर्शन किया है.
किसानों को तत्काल मदद प्रदान करने हेतु पूर्व शिक्षा मंत्री अमरीश भाई पटेल विधायक काशीराम पावरा नपा उपाध्यक्ष भुपेशभाई पटेल के प्रयासों सेबीमा कंपनी के अधिकारियों ने किसानों को  मार्गदर्शन किया है. मुंबई स्थित एक नाम अंकित विमा कंपनी के अधिकारी कमल बरोट  जो कि पूर्व मंत्री अमरीश भाई पटेल तथा मनपा उपाध्यक्ष पूजा पटेल के गहरे मित्र हैं.उन्होंने पटेल परिवार की आवाज पर शिरपुर आकर फसल बीमा योजना का लाभ और क्लेम किस तरह से करना इस विषय पर एक मार्गदर्शन शिविर को सम्बोधित किया है.
गुरुवार को  शिरपूर स्थित उपविभागीय अधिकारी कार्यालय में बैठक का आयोजन किया गया इस दौरान विधायक काशिराम पावरा, उपविभागीय अधिकारी डॉ. विक्रमसिंह बांदल, तहसीलदार आबा महाजन व अन्य अधिकारीयो ने उपस्थित लोगों को  मार्गदर्शन किया है. कार्यक्रम में प्रमुख रूप से विधायक काशिराम पावरा, उपविभागीय अधिकारी डॉ. विक्रम बांदल, तहसीलदार आबा महाजन, मुंबई के बीमा विमा अधिकारी कमल बरोट, पूर्व नगराध्यक्ष प्रभाकरराव चव्हाण, अशोक कलाल, पूर्व जि.प.उपाध्यक्ष के. डी. पाटील, तालुका कृषी अधिकारी निकुंभ, विमा कंपनी प्रतिनिधी सुभाष पवार, सुनील जैन आदि उपस्थित रहे है.
मुंबई के बीम  अधिकारी कमल बरोट ने किसानों को संबोधित करते हुए कहां है कि संयम रखते हुए कागजों की पूर्ति के बाद नुकसान ग्रस्त फसलों का योग्य वह  मुआवजा देने पुरा पुरा सहयोग किया जाएगा
अनुविभागीय अधिकारी  बिक्रम बंदल ने यह भी बताया कि तालुका में लगभग 12,500 किसानों की बीमा कृषक  सूची हैं फसल बीमा की स्थिति, पंचानम अधिशेष पंचनाम के निर्देश देकर फसल कटाई पंचनामा और वन जमीन पट्टों के धारकों भी फसल क्षतिपूर्ति का भुगतान किया जाएगा।