Home खानदेश समाचार शिरपुर: नकली शराब के कारखाने पर पुलिस का छापा, 1 लाख की...

शिरपुर: नकली शराब के कारखाने पर पुलिस का छापा, 1 लाख की सामग्री बरामद आरोपी फरार

276
0
SHARE
shirpur police station

शिरपुर: नकली शराब के कारखाने पर पुलिस का छापा, 1 लाख की सामग्री बरामद आरोपी फरार

धुलिया (वाहिद ककर ):  शराब के बहाने मौत परोसने के गोरखधंधे पर शिरपुर ग्रामीण पुलिस थाना प्रभारी अधिकारी अभिषेक पाटील ने नकेल कसने के क्रम में एक बार फिर से लाखों रुपये की नकली शराब और स्प्रिट बरामद करने में पुलिस टीम ने सफलता प्राप्त की है, पुलिस ने एक मकान में छापेमारी कर अवैध शराब की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। पुलिस के मुताबिक, यहां स्प्रिट से प्रेसिडेंट नाम से नकली  शराब बनाई जा रही थी।
पुलिस की कार्रवाई में नकली शराब की 35 बॉक्स और कच्चा माल भी बरामद हुआ है। हालांकि, पुलिस की दबिश में नकली शराब बनाने वाला मौके से भाग निकला। पुलिस सहायक इंस्पेक्टर अभिषेक पाटील ने बताया कि गांव में बड़े पैमाने पर अवैध शराब बनाई जा रही है। पुलिस ने पावरा के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कराया है.पुलिस ने बरामद शराब का मूल्य एक लाख 11 हजार रुपये से भी अधिक बताया है.
थाना प्रभारी अधिकारी अभिषेक पाटील को गुप्त सूत्रों से जानकारी प्राप्त हुई थी तहसील पुलिस थाना क्षेत्र के बोर पानी गाँव में देसी  अंग्रेजी नकली शराब धड़ल्ले से एक आवास में बनाई जा रही हैं जो आस पास के होटलों में ग्राहकों को खुलेआम परोसा जा रहा है। इस कि जानकारी सहायक पुलिस निरीक्षक अभिषेक पाटील को फोन पर मिली जिसमें उन्होंने पुलिस उप निरीक्षक खैरनार के नेतृत्व में दबिश देने टीम को भेजा.पुलिस सूत्रों के अनुसार तहसील क्षेत्र के बोर पानी गांव निवासी वेस्ता भाई सिंग पावरा (मोरे) के आवास पर दबिश देकर छापेमारी की तो एक व्यक्ति आवास के पिछले दरवाजे से फरार होते हुए दिखाई दिया जिसे स्थानीय लोगों ने वेस्ता पावरा के रूप में शनख्त किया. पुलिस ने चार सौ लीटर स्प्रिट 25 बॉक्स देशी शराब टैंगो पंच,10 बॉक्स  प्रेसिडेंट बियर शराब के बॉक्स  पुलिस ने सरकारी गवाहों की उपस्थिति में जब्त किया है .जिसका मूल्य एक लाख 11 हजार 600 रूपये बताया है. इस दबीश को पुलिस अधीक्षक विश्वास पांढरे अपर पुलिस अधीक्षक राजू भुजबल के निर्देशन में थाना प्रभारी निरीक्षक अभिषेक पाटील के नेतृत्व में उप निरीक्षक एनबी खैरनार, एएसआई बाविस्कर , हेड कांस्टेबल मोरे, गवली ,नगराले, पाटील, संजीव जाधव धनगर, पठान आदि ने सफलता पूर्वक अंजाम दिया है.